Monday, September 15, 2014

शिक्षक नियोजन में फर्जीवाड़े की जांच का आदेश

मीनापुर कौशलेन्द्र झा
शिक्षक नियोजन के दौरान हुए फर्जीवाड़े को शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव ने गंभीरता से लिया है। फर्जीवाड़े को लेकर अखबार में छप रही खबरों का हवाला देते हुए उन्होंने मुजफ्फरपुर के जिला शिक्षा अधिकारी को जांच का निर्देश दिया है। वर्ष 2006, वर्ष 2008 से 2010 व वर्ष 2012 के अतिरिक्त 34540 कोटि में नियुक्त हुए शिक्षकों के शैक्षणिक व प्रशैक्षिण प्रमाण पत्रों की जांच रिपोर्ट उन्होंने तीन महीने के भीतर तलब किया है। गड़बड़ी मिलने पर कानूनी कार्रवाई करने का भी निर्देश दिया है। गुरुवार को प्रधान सचिव के निर्देश की चिट्टी मीनापुर पहुंचते ही फर्जीवाड़ा करने वाले रैकेट में हड़कंप मच गया। प्रखंड में फर्जी प्रमाण पत्र पर शारीरिक शिक्षकों के नियोजन का भंडाफोड़ हो चुका है। कई अभ्यर्थियों के टीईटी का प्रमाण पत्र भी आशंकाओं के घेरे में है। अब जांच शुरू होने से कई शिक्षकों के साथ-साथ अधिकारियों की भी गर्दन फंसेंगी।

No comments:

Post a Comment