Tuesday, September 30, 2014

चिमनी का ट्रैक्टर फूंका, मुंशी को बांधकर पीटा

लेवी नहीं देने से खफा नक्सलियों ने नरमा में चिमनी पर बोला धावा
दहशत फैलाने के लिए छह राउंड की हवाई फायरिंग
जाते-जाते छोड़ गये तीन हस्तलिखित पर्चे
इलाके के सभी चिमनी मालिकों को धमकाया
मीनापुर। हिन्दुस्तान संवाददाता
पड़ोसी हथौड़ी थाना क्षेत्र के नरमा गांव में स्थित मां वैष्णो ब्रिक्स चिमनी पर सोमवार की देर रात एक दर्जन सशस्त्र नक्सलियों ने हमला किया। चिमनी के ट्रैक्टर में आग लगाने के बाद नक्सलियों ने छह राउंड हवाई फायरिंग भी की। फिर माओवाद जिंदाबाद... के नारे लगाते हुए लौट गये। जाते-जाते घटनास्थल पर तीन हस्तलिखित पर्चे भी छोड़ गये। नक्सलियों ने चिमनी मालिक रामबाबू राय से लेवी में पांच लाख रुपये की मांग की थी।
उत्तर बिहार पश्चिम जोनल कमेटी के नाम से जारी पर्चे सभी चिमनी मालिकों को संबोधित है जिसमें नक्सलियों की ओर से चेतावनी दी गई है कि निर्धारित समय सीमा में लेवी नहीं देने पर सबकों यही अंजाम भुगतना होगा है।
घटना सोमवार की रात करीब दो बजे की है। करीब एक दर्जन सशस्त्र नक्सलियों ने मां वैष्णो चिमनी पर धावा बोलकर सबसे पहले मुंशी अंजनी सिंह को बंधक बना लिया और उनकी पिटाई करने के बाद आंखों पर पट्टी बांध दी। उसके बाद पेट्रोल छिड़क कर ट्रैक्टर को आग के हवाले कर दिया। कुछ देर ठहरने के बाद सभी नक्सली पूरब दिशा की ओर निकल गये। मंगलवार की सुबह पहुंची हथौड़ी पुलिस ने घटनास्थल से तीनों पर्चे बरामद किया। अज्ञात नक्सलियों पर एफआईआर दर्ज की गई है।
बढाते गये लेवी की राशि :
मीनापुर थाना क्षेत्र के मुकसूदपुर गांव निवासी मां वैष्णो ब्रिक्स चिमनी के मालिक रामबाबू राय पिछले तीन महीने से नक्सलियों के निशाने पर हैं। नक्सली लगातार उनसे लेवी की मांग कर रहे थे। श्री राय ने इस बाबत मीनापुर थाने में अज्ञात नक्सलियों पर एफआईआर दर्ज करायी थी। मंगलवार को श्री राय ने बताया कि अज्ञात मोबाइल नम्बर से फोन करके खुद को नक्सली बताकर तीन माह पहले 45 हजार रुपये लेवी देने को कहा गया। एक महीने के बाद दो लाख रुपये की मांग करने लगे। हाल के दिनो में फोन करने वाला पांच लाख रुपये लेवी मांग रहा था। इस क्षेत्र के अधिकांश चिमनी मालिकों को पत्र लिख कर नक्सली लेवी की मांग कर चुके हैं।

No comments:

Post a Comment